अच्छा बचत खाता या बचत खाता जो खर्चे पूरे करे

अक्सर मै सुनता हू , मेरे पास अच्छा बचत खाता होना चाहिए | पूछने पर के “अच्छा बचत खाता क्या होता है ?” , उत्तर में सुनने को मिलता है “जिसमे बहुत सारे पैसे हो” |

एक सोच है, मै इस संसार में, मै बचत करने आया हू या खर्चा करने ?

मेरे जन्म से पहले , यानी, मुझे दिए हुए शरीर को बनाने के साथ ही, मेरे नाम पर खर्चा शुरू हो गया जो मेरे शारीर छोड़ने के बाद भी होता रहता है | जिसे pregnancy test और पिंड दान कहा गया है | जन्म - मृत्यु केवल pregnancy test और पिंड दान के बीच होने वाले दो हादसे है |

मै भी जब अपने जीवन चक्र पर नज़र डालता हू, तो केवल खर्चा ही दीखता है | वाणी के द्वारा बोला गया एक शब्द भी उर्जा का खर्च ही है |

इसलिए, एक सोच के साथ, खर्चो को पूरा करने वाला बचत खाता |

इस अलग सोच में,

मै पहले नज़र खर्चो पर रखता हू और उसके बाद बचत पर |

 ** नज़र और कर्म दोनों अलग है | **

कर्म में,

पहले बचत और फिर खर्च आता है |

मै एसा बचत खाता जो खर्चे पूरे करे उसको बनाने , सभालने, तथा पूरा करने में पूरा जीवन लगा रहा हू |

 तरीका सादा है |

  1. पहले खर्चो को लिखो
  2. उन खर्चो को पूरा करने के लिया बचत करो
  3. बचाई हुई रकम से खर्च पूरा करो

 और मै हमेशा खर्चे पूरे करने वाले खाते पैर नज़र रखता हू |